What is life.

 

Life is like a book,

every page unfolds a new truth

It is your decision as to how you took

The message conveyed in its looks.

 

Life is a riddle

Checking your power

To use the intellect

And the inherent critcal powers.

 

Life is a unique experience

Live it to the fullest

Don’t waste your wonderful moments

In criticism and fowl play.

 

 

Let your life be an example

Of serenity and wisdom

Giving solace to every soul

That comes your way  .

Advertisements
Published in: on May 2, 2014 at 10:36 am  Leave a Comment  

बेड़ियाँ

बेड़ियाँ

लड़ना है तो मिलकर लड़ो

भीतर के इंसान से

क्यूँ हो रहे हैं प्यासे

इंसान ही अब इंसान के.

 

तोड़ो बेड़ियाँ संकीर्णताओं की

वैमनस्य और उत्तेजनाओं की

स्वतंत्र सहज जीना सीखो

प्रेम से मिल रहना सीखो.

 

इन्सानियत ही एक धर्म हो सबका

प्रिय संतान है हर कोई उस रब का

उसने तो बस प्रेम सिखाया

यह लड्ना झगड़ना कहाँ से आया.

 

बहुत हुआ अब करो न देरी

फूंक दो फिर से मिलन की भेरी

कदम से कदम मिला कर चलें

इर्षा द्वेष से मुक्त रहें.

 

 

 

नवभारत का हो निर्माण

हर जन का यहाँ हो कल्याण

निज स्वार्थ को दे तिलांजलि

स्नेह सहयोग से भरें अंजुलि.

 

 

Published in: on August 12, 2013 at 4:57 am  Leave a Comment