Deepawali

हमारी रीतें हमारे रिवाज़
याद दिलाते हमें त्यौहार
आओ मिल कर ख़ुशी मनाएं
कभी न भूलें अपने संस्कार .

त्योहारों से निखरे अपनापन ,
लौट आता फिर से बचपन
उत्साह उमंग से मन भर जाता
जब होते अपने सब प्रसन्न .

निश्छल प्रेम और व्यवहार
जब आये जीवन में प्यार
राग द्वेष से मिले छुटकारा
सुखी हो जाये सारा संसार .

दीपावली है प्रतीक ख़ुशी का
समृधि और भरपूर खुशी का
मिलजुल कर सब ख़ुशी मनाते
भूलें गम सब अपने जीवन का .

दीपावली यूँ हर दिन मनाते रहें
जीवन को खुशियों से सजाते रहे
जीवन में मिला जो खुश रह उसमें
जीवन को सहज बनाते रहें .
-सूक्ष्म लता महाजन

Advertisements
Published in: on October 22, 2014 at 6:47 am  Leave a Comment  

The URI to TrackBack this entry is: https://lataspeaks.wordpress.com/2014/10/22/deepawali/trackback/

RSS feed for comments on this post.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: